Indian National Science Academy
  गृह || साइट मैप || हमसे संपर्क करें  

 

 

 

 



इन्सा के नियम

अध्येताओं के मत  
53.

निम्नलिखित किसी भी मामले में अध्येताओं के मत [ उन्हें उपाध्यक्ष ( अध्येतावृत्ति मामले ) द्वारा प्रेषित ] मतपत्रों द्वारा लिए जाएँगे-

जब परिषद् अपने विवेक से तय करे कि यह अकादमी के हित में होगा कि अकादमी के सभी अध्येताओं को साधारण बैठक के निर्णय से अपील की जाए।.

जब 10 या अधिक अध्येता एक माँगपत्र पर हस्ताक्षर कर के अध्यक्ष को ऐसी अपील करने के लिए कहें।.

वित्त, संगठन के बारे में बड़े परिवर्तनों के प्रस्ताव, अकादमी के नियमों तथा उद्देश्यों में परिवर्तन या कोई अन्य बड़ी मद जिसके लिए, परिषद् की राय में, अकादमी के सभी अध्येताओं को लिखना ज़रुरी है।.

54.
अकादमी के सभी अध्येताओं के मतों के लिए नियम 53 के अंतर्गत आने वाले किसी प्रश्न को परिचालित करने से पहले परिषद् उस साधारण बैठक से कम-से-कम दो सप्ताह पूर्व, जिसमें वह प्रश्न रखा जाना है, हर अध्येता को एक मुद्रित परिपत्र भिजवाएगी जिसमें प्रस्ताव का स्वरुप और उसका कारण बताया गया हो, ताकि उस साधारण बैठक में उस पर विधिवत् चर्चा हो सके। बैठक में प्रस्ताव के विरुद्ध उठाई जा सकने वाली किसी आपत्ति का विवरण मतपत्रों के साथ परिचालित किया जाएगा।.
55.

अकादमी के सभी अध्येताओं के मतों के लिए भेजा गया कोई भी प्रश्न मतों द्वारा निर्वाचन के लिए मतपत्र जारी करने से तीस दिन की अवधि के बाद साधारण बैठक के सामने लाया जाएगा। सभापति मतों की जाँच तथा गणना कराएगा और परिणाम सूचित करेगा।.

विविध
56.
अकादमी के वेतनभोगी कर्मचारी के रुप में नियुक्त किसी भी व्यक्ति को मत देने का अधिकार नहीं होगा। यदि किसी अध्येता को ऐसे किसी पद पर नियुक्त कर दिया जाए तो उसे अकादमी की बैठक में तब तक मत देने का हक़ नहीं होगा जब तक वह उस पद पर रहे, किंतु उसे अध्येतावृत्ति के अन्य विशेषाधिकारों से वंचित नहीं किया जाएगा।.
57.
कार्यकारी सचिव अकादमी की, उसकी साधारण बैठकों की, और परिषद् की बैठकों की कार्यवाहियों का रिकार्ड रखेगा, जैसा समय समय पर परिषद् द्वारा निर्धारित किया जाए। सभी अध्येताओं को साधारण बैठकों का रिकार्ड देखने का हक़ होगा।.
58.
सभी पत्र, नोटिस, बैठकों के कार्यवृत्त तथा अकादमी के काम-काज से संबधित अन्य प्रलेख उनकी तिथियों के क्रम से फाइल किए जाएँगे और सुरक्षित रखे जाएँगे।.
59.
जब परिषद् द्वारा किसी नए नियम के समावेश या किसी वर्तमान नियम के परिवर्तन अथवा निरसन की सिफ़ारिश की जाए या दस अथवा अधिक अध्येताओं द्वारा प्रस्तावित किया जाए, तब परिषद् अकादमी के मत देने के हक़दार प्रत्येक अध्येता को प्रस्तावित परिवर्तनों और उनके कारणों का विवरण भिजवाएगी ताकि नियम 55 में दिए गए निर्देश के अनुसार अध्येताओं के सामान्य निकाय के मत लिए जा सकें। परंतु, नियम में कोई भी परिवर्तन तब तक वैध नहीं होगा जब तक मत देने वाले अध्येताओं का दो-तिहाई बहुमत प्रस्तावित परिवर्तनों के पक्ष में न हो। .
60.
ये नियम दिसंबर, 1999 में आयोजित वर्षगाँठ साधारण बैठक की समाप्ति की तिथि से प्रभावी होंगे। पहले के सभी नियम उस तिथि से रद्द किए जाते हैं। तथापि, संदर्भ के लिए पुराने नियम अकादमी के अभिलेखागार में उपलब्ध रहेंगे।.

वापस