Indian National Science Academy
  गृह || साइट मैप || हमसे संपर्क करें  

 

 

 

 

INSA Guesthouse:::::::::::
अध्येतागण
विदेशी अध्येतागण
लोकल चैप्टर


लोकल चैप्टर

1. प्रदेशों के लिए लोकल चैप्टर उन स्थानों पर स्थापित किए जाते हैं जहाँ अकादमी के पाँच या अधिक अध्येता रहते हों। अपवादात्मक मामलों में, यदि संख्या कम हो लेकिन लोकल अध्येता स्थानीय चैप्टर चाहते हों, तो अध्यक्ष द्वारा निर्णय के लिए उनके अनुरोध पर विचार किया जा सकता है।

2. अकादमी के सभी अध्येता किसी एक स्थानीय चैप्टर के साथ संबद्ध होंगे।

3. लोकल चैप्टरों को चाहिए कि देश में वैज्ञानिक नीति को प्रभावित करने वाले विभिन्न मामलों पर अपनी राय दें। उसमें सुझाव शामिल होने चाहिएँ यथा विज्ञान का सामाजिक प्रभाव, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में नियोजन और स्थानीय अकादमियों तथा विद्वत निकायों के साथ संपर्क ताकि इन निकायों और भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी के बीच उपयोगी सहभागिता बनाई जा सके। चैप्टरों को स्थानीय महत्त्व की विशेष समस्या पर टिप्पणी करनी चाहिए जिसका वैज्ञानिक विश्लेषण किया जा सके। इस उद्देश्य के लिए चैप्टर के भीतर उपयुक्त विशेषज्ञों वाली विशेष समितियाँ बनाई जाएँ।

कुछ अध्येताओं से, विशेषतः विज्ञान प्रबंधन में कई वर्ष का अनुभव रखने वाले अध्येताओं से अनुरोध किया जा सकता है कि वे ऐसे मुद्दों पर रिपोट संकलित करने का दायित्व संभाल लें। रिपोट अकादमी को भेजी जाएँगी ताकि अकादमी विभिन्न रिपोर्टों का एक समेकित रुप परिषद् द्वारा विचार के लिए तैयार कर सके। फिर परिषद् अपने विचारों को प्रचारित करेगी और इसके द्वारा यह समाज का एक महत्त्वपूर्ण अंग बन जाएगी।

4. लोकल चैप्टरों को चाहिए कि युवा विज्ञानियों को वैज्ञानिक गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें।

5. सभी लोकल चैप्टरों को वैज्ञानिक गतिविधियों को सुदृढ़ बनाने के प्रयास करने चाहिएँ। वे एक वर्ष में कम-से-कम दो वैज्ञानिक कार्यक्रम आयोजित करें जो मुख्यतः विज्ञान को बढ़ावा देने और विज्ञान को लोकप्रिय बनाने से संबंधित हों। किसी स्थानीय चैप्टर से संबद्ध सभी अध्येताओं को चैप्टर की बैठकों में भाग लेने का प्रयास करना चाहिए जो मुख्यालय में या किसी अन्य स्थान पर आयोजित की जाएँ जिनमें, अन्य बातों के अलावा, अकादमी के विभिन्न स्थायीनिधि व्याख्यानों भाषणों के लिए नामांकन भी किए जा सकते हैं।

6. (क) लोकल चैप्टरों की बैठकों में भाग लेने के लिए बाहर के सभी अध्येताओं को रेल की प्रथम/द्वितीय वातानुकूलित श्रेणी का वापसी किराया देय होगा।

(ख) स्थानीय अध्येताओं के लिए परिवहन पर किए गए ख़र्च की, टेक्सी भाड़े सहित, प्रतिपूर्ति कर दी जाएगी।

7. लोकल चैप्टर की प्रत्येक बैठक में एक सभापति चुना जाना चाहिए।

8. प्रत्येक लोकल चैप्टर एक अध्येता का नाम सुझाए जिसे परिषद् द्वारा उस लोकल चैप्टर का संयोजक नियुक्त किया जा सके। संयोजक का कार्यकाल तीन वर्ष होगा।

स्थानीय चैप्टरों के संयोजकों से अनुरोध किया जाए कि यथासंभव एक विस्तृत कार्यक्रम तैयार करने के लिए पहली बैठक अप्रैल में बुलाई जाए जिसमें विभिन्न प्रस्तावित गतिविधियों की तिथियों का ब्यौरा हो और उसे अध्येताओं को परिचालित कर दिया जाए तथा ‘ इन्सा समाचार ’ में भी प्रकाशित किया जाए।

 

वापस