गृह || साइट मैप || हमसे संपर्क करें  




 



इन्सपाएर  (इनोवेसन्स इन साइन्स परसूइट फॉर इनस्पाएर्ड रिसर्च)


भारत सरकार (विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ) मुख्य रूप से 10 साल से 32 उम्र तक की ( युवा प्रतिभाओं को आकर्षित करने के उदेश्य से इनोवेसन्स इन साइन्स परसूइट फॉर इनस्पाएर्ड रिसर्च के तहत मूल वैज्ञानिक अनुसंधान को प्रोत्साहित करने के लिए एक प्रमुख कार्यक्रम शुरू किया है।  विभाग ने पहले से ही 10-22 वर्ष के आयु वर्ग में छात्रों को आकर्षित करने के लिए कुछ योजनाएं शुरू की है। इन्ही कार्यक्रमो को आगे बढ़ते हुये, डीएसटी  ने संकाय फैलोशिप अवार्ड योजना के तहत पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद दो नए प्रमुख योजनाओं की योजना बनाई है --- पीएचडी के लिए छात्रवृत्ति  (आयु समूह 22-27 वर्ष) और फ़ैकल्टि फेललोशिप स्कीम  के अंतर्गत 5 साल के लिए पोस्ट डॉक्टरेट रिसर्च फैलोशिप छात्रवृत्ति। ए  ओ र सी  के इन दो घटकों के अंतर्गत फिलहाल हर वर्ष 1000 के शोध छात्रों को प्रोत्साहित किया जाएगा।


इन्सा, डी एस टी के अनुरोध पर 2011 के बाद से ए  ओ र सी  योजना (आयु समूह 27-32 वर्ष) के तहत प्रेरित संकाय फैलोशिप अवार्ड की जिम्मेदारी ली है और स्कूल के छात्रों के लिए विज्ञान शिविरों का आयोजन कर रही है जिन्हे उत्कृस्ट  आमंत्रित वैज्ञानिक संबोधित करते हैं।


इस नए कार्यक्रम के लिए डीएसटी द्वारा प्रदान की अलग बजट के आधार पर इन्सा परिसर में एक स्वतंत्र सेल स्थापित किया गया है।  प्रोफेसर एन सत्यमूर्ती की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की एक कोर कमेटी भी इस अति विशिष्ट कार्यक्रम के क्रियान्वयन एवं सेल को सलाह देने के लिए गठित की गयी है।


संकाय अध्येताओं के अंतिम चयन सात विषयवार चयन समिति और एक शीर्ष समिति के माध्यम से संचालित है. 2013 से सामग्री विज्ञान की अलग से  एक नई समिति भी गठित की गई है। देश  और विदेशों से अधिक युवा भारतीय अनुसंधान वैज्ञानिकों को आकर्षित करने के लिए चयन वर्ष में दो बार किया जाता है।

अकादमी ने  विदेशों में रहने वाले आवेदकों के लिए स्काइप / वीडियो सम्मेलन नेटवर्क के माध्यम से चयन के लिए इंतजाम किए हैं ।


इस के अलावा, उपरोक्त कार्यक्रम में मदद करने के लिए एवं  डीएसटी - इन्सपायर कार्यक्रम के लिए आवश्यक शैक्षिक जानकारी प्रदान करने के लिए एक 28 सदस्यीय इंटर अकादमी सलाहकार पैनल भी बनाई गई थी. पैनल पहले ही संसाधन व्यक्तियों के रूप में 2500 से अधिक विशेषज्ञों की एक सूची तैयार की है जो ग्रीष्म शोध अध्येता और उनके गाइड से विचार विमर्श करते है और डीएसटी के लिए इन्सपाएर पैनल की रिपोर्ट की प्रस्तुति मे मदद करते हैं।


वापस