गृह || साइट मैप || हमसे संपर्क करें  



विषयवार पदक/व्याख्यान/पुरस्कार
   
अकादमी द्वारा संस्थापित पदक
विन्यास पदक
विन्यास व्याख्यान
   
 
  (अ) अकादमी द्वारा संस्थापित पदक
 
(1)

श्रीनिवास रामानुजन पदक — गणितीय विज्ञान के लिए

 
(2)

सत्येंद्रनाथ बोस पदक — भौतिकी के लिए

   
 
(3)

होमी जहांगीर भाभा पदक — भौतिकी के लिए

 
(4)

(4) जगदीश चन्द्र बोस पदक — जैव रसायन, जैव भौतिकी, आण्विक जीवविज्ञान और संबंधित क्षेत्रों के लिए

   
 
(5)

सुंदर लाल होरा पदक — पशु विज्ञान के लिए

 
(6)
दाराशाव नोशेरवानजी वाडिया मेल — भूगोल सहित पृथ्वी विज्ञान के लिए
   
 
(7)

प्रशांत चंद्र महालनोबिस पदक — गणितीय विज्ञान के लिए

 
(8)
सैयद हुसैन ज़हीर पदक — इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के लिए
   
 
(9)
रजत जयंती स्मरणोत्सव पदक — कृषि विज्ञान के लिए
(10)
स्वर्ण जयंती स्मरणोत्सव पदक — रसायन विज्ञान के लिए
   
 
(11)
स्वर्ण जयंती स्मरणोत्सव पदक — पशु विज्ञान के लिए
 
(12)
कलपति रामकृष्ण रामनाथन पदक — वायुमंडलीय विज्ञान और मौसम विज्ञान के लिए
   
   
 
पदक विज्ञान के संबंधित निकाय में उत्कृष्ट योगदान के लिए प्रदान किया जाएगा। उत्कृष्टता इस आधार पर मापी जाएगी कि उम्मीदवार के वैज्ञानिक कार्य का प्रभाव कितने लंबे समय तक महसूस किया गया। पुरस्कार में एक ताम्र पदक (सिलवर प्लेटेड) और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।
 
(ब) विन्यास पदक*
   
 

1. विश्वकर्मा पदक

अपर्याप्त कोष के कारण अप्रैल 2011 में संपन्न परिषद के निर्णय के अनुसार ’ चिह्नित पदक व्याख्यान/पुरस्कार’ निलंबित कर दिया गया है।
यह पदक डॉ. पुलिन बिहारी सरकार, अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता द्वारा एक अक्षय निधि से 1976 में स्थापित किया गया था। यह पदक प्रख्यात वैज्ञानिकों, प्रौद्योगिकीविदों या इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी में नई खोज या अन्वेषन या भारत में एक मौजूदा प्रक्रिया में महत्वपूर्ण सुधार करने के लिए जिसके परिणामस्वरूप एक नए उद्योग की शुरूआत हो सकी जिससे सस्ता या बेहतर उत्पाद संभव हो सका है, के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पहला पदक 1979 में दिया गया।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करें


   
 

2. प्रोफेसर ब्रह्म प्रकाश स्मारक पदक

पुरस्कार अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता स्वर्गीय डॉ. ब्रह्म प्रकाश, के दोस्तों द्वारा 1987 में श्रीमती आर ब्रह्म प्रकाश के एक विन्यास से स्थापित किया गया था।

यह पुरस्कार किसी भी वैज्ञानिक/अभियंता को इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान हेतु दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1989 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करें


   
 

*3. प्रोफेसर श्याम बहादुर सक्सेना स्मारक पदक

पुरस्कार श्रीमती सरला सक्सेना द्वारा एक विन्यास से प्रतिष्ठित वनस्पतिशास्त्री और अकादमी के अध्येता स्वर्गीय प्रोफेसर श्याम बहादुर सक्सेना की स्मृति में 1989 में स्थापित किया गया था।

यह पुरस्कार प्रख्यात वैज्ञानिक को पादप विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान हेतु दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1990 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करें


   
 

4. प्रोफेसर जीएन रामचंद्रन की 60वीं सालगिरह स्मरणोत्सव पदक

यह पुरस्कार प्रोफेसर जीएन रामचंद्रन, अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की 60वीं सालगिरह मनाने के लिए आयोजन समिति द्वारा एक विन्यास से 1989 में स्थापित किया गया था।

यह पुरस्कार प्रख्यात वैज्ञानिक को जैव रसायन और जैवभौतिकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रु का मानदेय, एक प्रशस्ति पत्र और एक कांस्य पदक दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1991 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

*5. प्रोफेसर टी आर शेषाद्रि सत्तरवां जन्मदिवस स्मरणोत्सव पदक

यह पदक एक प्रतिष्ठित जैविक रसायनज्ञ, अकादमी के अध्येता और पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर शेषाद्रि के छात्रों द्वारा एक विन्यास से 1971 में स्थापित किया गया था।

यह पदक किसी भी वैज्ञानिक को रासायनिक विज्ञान में उत्कृष्ट कार्य के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पहला पदक 1973 में दिया गया।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

6. प्रोफेसर के पी भार्गव स्मारक पदक

यह पदक स्वर्गीय प्रोफेसर केपी भार्गव, एक प्रख्यात औषध विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में, श्रीमती सावित्री भार्गव द्वारा किए गए एक विन्यास से 1992 में स्थापित किया गया था।

इसके लिए वैज्ञानिक का चयन आयुर्विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान हेतु किया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रु का मानदेय, एक प्रशस्ति पत्र और एक कांस्य पदक दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1996 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

7. प्रोफेसर के नाहा स्मारक पदक

यह पदक स्वर्गीय प्रोफेसर क्षितिन्द्र मोहन नाहा, एक प्रख्यात भूविज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में प्रोफेसर नाहा के परिवार के सदस्यों द्वारा एक विन्यास से 1996 में स्थापित किया गया था।

इसके लिए वैज्ञानिक का चयन पृथ्वी विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान हेतु किया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रु का मानदेय, एक प्रशस्ति पत्र और एक कांस्य पदक दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1998 में बनाया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

8. प्रोफेसर कृष्ण सहाय बिलग्रामी स्मारक पदक

यह पदक स्वर्गीय प्रोफेसर कृष्ण सहाय बिलग्रामी, एक प्रख्यात वनस्पति विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता के परिवार, साथियों और छात्रों द्वारा योगदान के विन्यास से 1998 में स्थापित किया गया था।

यह पदक किसी वैज्ञानिक को कृषि विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान हेतु दिया जाता है। पुरस्कार में एक कांस्य पदक, 25,000 रुपए का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 2001 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

9. चंद्रकला होरा स्मारक पदक

यह पदक श्रीमती होरा और डॉ. सुंदर लाल होरा, एक प्रतिष्ठित अध्येता और अकादमी के पूर्व अध्यक्ष द्वारा उनकी बेटी की स्मृति में एक निधि से 1945 में स्थापित किया गया था।

यह पदक पशु विज्ञान के क्षेत्र में योगदान के लिए प्रख्यात वैज्ञानिक को दिया है। पुरस्कार में 25,000 रुपए का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पहला पदक 1950 में दिया गया।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

*10. श्री धनवंत्री पुरस्कार

इस पुरस्कार की स्थापना 1969 में श्री अनंत कृष्णा आसुंदी द्वारा उनकी सबसे छोटी बेटी श्रीमती अकादेवी की स्मृति में एक विन्यास से की गयी।

यह पुरस्कार आयुर्विज्ञान की किसी भी शाखा में भारत में उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रख्यात वैज्ञानिकों को दिया जाता है। पुरस्कार में रु 25,000 का मानदेय, एक कांस्य पदक और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पहला पदक 1971 में दिया गया।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
 

11. प्रोफेसर भीम शंकर त्रिवेदी स्मारक पदक

यह पदक स्वर्गीय प्रोफेसर बी एस त्रिवेदी, एक प्रतिष्ठित पैलियो वनस्पतिशास्त्री और अकादमी के अध्येता के परिवार के सदस्यों द्वारा किए गए एक विन्यास से 2013 में स्थापित किया गया था।

यह पदक चिकित्सा और मनोविज्ञान सहित जैविक विज्ञान की किसी भी शाखा में उत्कृष्ट योगदान के लिए प्रख्यात वैज्ञानिक को दिया जाता है। पुरस्कार में एक कांस्य पदक, 25,000 रुपए का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 2014 में दिया जाएगा।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


   
  (स ) विन्यास व्याख्यान
   
 

1. प्रोफेसर बाल दत्तात्रेय तिलक व्याख्यान

यह व्याख्यान पुरस्कार रंजक रसायन विज्ञान और जैविक रासायनिक प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अपने शोध के लिए प्रतिष्ठित अकादमी के अध्येता प्रोफेसर बीडी तिलक की स्मृति में प्रोफेसर बीडी तिलक वैज्ञानिक अनुसंधान और शिक्षा ट्रस्ट, पुणे द्वारा एक विन्यास से 1982 में स्थापित किया गया था।

इसके लिए वैसे वैज्ञानिक का चयन किया जाता है जिसने ग्रामीण अर्थव्यवस्था और जीवन के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी के अभिनव और प्रभावी योगदान हेतु दिया है। पुरस्कार में 25,000 रु का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1983 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*2. डॉ. टीएस तिरुमूर्ति स्मारक व्याख्यान

यह व्याख्यान श्रीमती जानकी रामचंद्रन, स्वर्गीय डॉ. तिरुनेलवेली सुब्बैयर तिरुमूर्ति, एक प्रतिष्ठित चिकित्सा वैज्ञानिक और अकादमी के फाउंडेशन अध्येता की बेटी द्वारा एक विन्यास से 1985 में स्थापित किया गया था।

इसके लिए वैज्ञानिक का चयन चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए किया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1985 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


3. डॉ. नित्या आनंद विन्यास व्याख्यान

व्याख्यान डॉ. नित्या आनंद, एक प्रख्यात रसायनज्ञ और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की 60वीं सालगिरह का जश्न मनाने के लिए आयोजन समिति द्वारा एक विन्यास से 1986 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान एक वैज्ञानिक के द्वारा नई दवा के विकास सहित जैव चिकित्सा अनुसंधान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु दिया जाएगा। पुरस्कार पिछले 10 वर्षों के दौरान भारत में किए गए कार्य के आधार पर दिया जाएगा। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1987 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*4. पदार्थ विज्ञान के लिए इन्सा पुरस्कार

व्याख्यान 1981 में आयोजित ‘एप्लीकेशन ऑफ मॉसबार इफैक्ट’ विषय पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन पर आयोजन समिति द्वारा विन्यास से 1986 में स्थापित किया गया था।

पुरस्कार पदार्थ विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाएगा। पुरस्कार में रु 25,000 का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1987 में दिया गया था।




5. प्रोफेसर एस स्वामीनाथन 60वीं सालगिरह स्मरणोत्सव व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर एस स्वामीनाथन, एक प्रख्यात जैविक रसायनज्ञ और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की याद में प्रोफेसर एस स्वामीनाथन 60वीं सालगिरह स्मरणोत्सव समिति द्वारा एक विन्यास से 1990 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान रसायन विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाएगा। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1992 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


6. प्रोफेसर दर्शन रंगनाथन स्मारक व्याख्यान

लेक्चरशिप अकादमी के अध्येता प्रोफेसर एस रंगनाथन द्वारा अपनी पत्नी प्रोफेसर दर्शन रंगनाथन जो अकादमी की प्रतिष्ठित अध्येता थीं की स्मृति में विन्यास द्वारा वर्ष 2001 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान विज्ञान और प्रौद्योगिकी के किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान हेतु एक महिला वैज्ञानिक को दिया जाएगा। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पहला व्याख्यान पुरस्कार 2003 में दिया गया।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*7. प्रोफेसर एम आर एन प्रसाद स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर एम आर एन प्रसाद, एक प्रख्यात शरीर क्रिया विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में उनके सहयोगियों और मित्रों ने एक विन्यास से 1989 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान पशु विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाएगा। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1992 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


8. बिरेष चन्द्र गुहा स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान (श्रीमती) फूलरेणु गुहा मे अपने पति प्रोफेसर बिरेश चन्द्र गुहा, जो अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता थे, की स्मृति में एक विन्यास द्वारा 1965 में स्थापित किया था।

व्याख्यान जैवभौतिकी और जैव रसायन के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1969 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*9. बिषंभर नाथ चोपड़ा व्याख्यान

व्याख्यान डॉ. बिशंभर नाथ चोपड़ा, अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में उनके परिवार के सदस्यों द्वारा एक विन्यास से 1968 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान संयंत्र विज्ञान की किसी भी शाखा में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1971 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*10. प्रोफेसर शम्भू नाथ डे स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर एस एन डे जो सूक्ष्म जीव विज्ञान में अपने शोध के लिए एक विशिष्ट वैज्ञानिक थे, की स्मृति में सूक्ष्म जीव वैज्ञानिक संघ (ए एम आई) की ओर से आठवीं खमीर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी (आई यू एम एस) की आयोजन समिति द्वारा एक विन्यास से 1992 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान जैव रसायन और जैवभौतिकी में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1993 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


11. प्रोफेसर विष्णु वासुदेव नार्लीकर स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान स्वर्गीय प्रोफेसर वी वी नार्लीकर के परिवार के सदस्यों और एक करीबी दोस्त के एक विन्यास द्वारा 1992 में स्थापित किया था। प्रोफेसर वी वी नार्लीकर, एक प्रख्यात गणितज्ञ और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता थे।

व्याख्यान गणित में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1994 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*12. डा. जगदीष शंकर स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान डॉ. जगदीश शंकर, अकादमी के अध्येता और परमाणु और विकिरण रसायन विज्ञान के क्षेत्र में एक विशिष्ट वैज्ञानिक की स्मृति में 1992 में स्थापित किया गया था। विन्यास की राशि इमर्जिंग फ्रंटियर्स इन केमिस्ट्री संगोष्ठी की आयोजन समिति, छात्रों, प्रशंसकों और डॉ. शंकर के परिवार के सदस्यों द्वारा दी गयी थी।

व्याख्यान रसायन विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1994 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


13. प्रोफेसर विश्व नाथ स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान डा. विश्व नाथ, एक प्रख्यात जीव विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति और उनके छात्रों एवं परिवार के सदस्यों और मित्रों द्वारा किए गए एक विन्यास से 1992 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान जैव रसायन और जैवभौतिकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1995 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


14. डॉ. बीरेन रॉय स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान डॉ. बीरेन रॉय, हमारे देश के एक प्रतिष्ठित एरोनॉटिकल इंजीनियर की स्मृति में बीरेन रॉय ट्रस्ट द्वारा किए गए एक विन्यास से 1993 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान भौतिकी में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1995 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


15.प्रोफेसर साधन बसु स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर साधन बसु जो अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता थे, की स्मृति में स्पेक्ट्रोस्कोपी के लिए बहुलक रसायन शास्त्र और क्वांटम रसायन विज्ञान के क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान हेतु प्रोफेसर साधन बसु स्मारक निधि समिति द्वारा स्थापित किए गए एक विन्यास से 1993 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान रसायन विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1996 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


16. डॉ. येल्लाप्रगदा सुब्बा रॉव स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान जैव चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए डॉ. सुब्बा रॉव की स्मृति में डॉ. येल्लाप्रगदा सुब्बा रॉव शताब्दी समारोह राष्ट्रीय समिति द्वारा शुरू किए गए एक विन्यास से 1995 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान आयुर्विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1996 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*17. प्रोफेसर के रंगधामा राव स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर के रंगधामा राव, एक प्रख्यात भौतिक विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता के छात्रों द्वारा एक विन्यास से 1979 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान स्पेक्ट्रोस्कोपी के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाएगा। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1979 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*18. प्रोफेसर रंगो कृष्णा आसुंदी स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर रंगो कृष्णा आसुंदी, स्पेक्ट्रोस्कोपी के क्षेत्र में अकादमी के प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में आसुंदी विन्यास कोष से 1983 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान स्पेक्ट्रोस्कोपी में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1984 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*19. प्रोफेसर टोप्पूर सीतापति सदाशिवन व्याख्यान

व्याख्यान प्रोफेसर टोप्पूर सदाशिवन जो अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता थे और शरीर विज्ञान और पादप विकृति विज्ञान में अपने शोध के लिए जाने जाते हैं, उनकी स्मृति में प्रोफेसर टोप्पूर सीतापति सदाशिवन विन्यास समिति द्वारा 1982 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान पादप विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1982 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*20. प्रोफेसर पंचानन महेश्वरी स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान स्वर्गीय प्रोफेसर पंचानन महेश्वरी, एक प्रख्यात वनस्पति विज्ञानी और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता के सहयोगियों और मित्रों द्वारा एक विन्यास से 1984 में स्थापित किया था।

व्याख्यान पादप विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1987 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


*21. डॉ. गुरु प्रसाद चटर्जी स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान डॉ. गुरु प्रसाद चटर्जी, एक प्रख्यात धातुशोधन और अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में डॉ. जीपी चटर्जी और श्रीमती सुनीति चटर्जी द्वारा एक विन्यास से 1979 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान अभियांत्रिकी और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1981 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


22. प्रोफेसर हर स्वरूप स्मारक व्याख्यान

व्याख्यान की स्थापना 1981 में प्रोफेसर हर स्वरूप जो अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता थे और जिन्हें शरीर क्रिया विज्ञान जीव विज्ञान और विकास पर अपने शोध के लिए जाना जाता है, की स्मृति में डॉ. (श्रीमती) सावित्री स्वरूप द्वारा एक विन्यास से की गई थी।

व्याख्यान पशु विज्ञान में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 1984 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे


23. डॉ. एम आर दास स्मारक व्याख्यान

लेक्चररशिप डॉ. एमआर दास, अकादमी के एक प्रतिष्ठित अध्येता की स्मृति में उनकी पत्नी डॉ. (श्रीमती) राधा आर दास द्वारा किए गए एक विन्यास से 2003 में स्थापित किया गया था।

व्याख्यान जैव भौतिकी और जैव रसायन में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में 25,000 रुपये का मानदेय और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। प्रथम पुरस्कार 2005 में दिया गया था।

प्राप्तकर्ताओं के लिए यहां क्लिक करे

वापस

       इतिहास | महत्वपूर्ण पड़ाव | उद्देश्य | समितियाँ | स्थानीय चैप्टर | नियम | विनियम | वर्तमान अध्येतागण- राष्ट्रीय | वर्तमान अध्येतागण- विदेशी | निर्वाचित भारतीय अध्येतागण | निर्वाचित विदेशी अध्येतागण | मृतक भारतीय अध्येतागण | मृतक विदेशी अध्येतागण | नामांकन फार्म | परिषद |
©वेबसाइट डिजाइन और विकसित: भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान संस्थान : सूचना विज्ञान